Sunday, July 16, 2017

SEO क्या है ?SEO Kya Hai? Complete Information- Hindi

SEO क्या है ?SEO Kya Hai?


SEO (Search Engine Optimization)-  SEO (Search Engine Optimization) जिसका मतलब है की अपने Blog या Website को Search Engine के According Optimize करना लेकिन बात सिर्फ इतनी ही नहीं है क्योंकि SEO की बात करें तो यह सिर्फ Blog और Website के लिए ही नहीं है बल्कि YouTube Videos के लिए भी है। इसलिए दोनों Platform (Blogging और Vlogging) के लिए अलग-अलग SEO Strategy होती है।

SEO Kya Hai?

बहुत सारे लोग इस बात से Confuse हो जाते हैं की Blogging के अंदर हम जो SEO Strategies सीखते हैं वो ही Strategies Vlogging (YouTube Videos) पर भी Apply होती है। कुछ हद तक ऐसा कह सकते हैं लेकिन पूरे तौर पर यह सही नहीं है। इसलिए अगर आप Blogging करते हैं या Vlogging (YouTube Videos) Create करते हैं तो आपको इन दोनों SEO में फर्क पता होना चाहिए और साथ ही दोनों में आपको किन  चीजों पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए इस बारे में भी Complete Information होनी चाहिए।

हम इस Post में Blogging और Vlogging के साथ-साथ Types Of SEO के बारे में भी बात करेंगे जिससे SEO से Related आपको कोई भी Dought ना रहे।



Types Of SEO


Types of SEO के अंतर्गत 5 पारकर के SEO को Count किया जाता है-

1. On Page SEO
2. Off Page SEO
3. Black Hat SEO
4. White Hat SEO
5. Gray Hat SEO

अब आप को इनके Types के बारे में पता चल गया होगा लेकिन हम आपको बता दें की आपके लिए सिर्फ 1. On Page SEO और 2. Off Page SEO ही Important है।

Q 1. SEO 5 Types के होते हैं लेकिन हमारे लिए सिर्फ 2 Important हैं क्यों?

जवाब- Actually On Page SEO के अंतर्गत हम अपनी Website के अंदर क्या चीजें करनी हैं इनके बारे में सीखते हैं और Off Page SEO के अंदर हम Website को Create करने के बाद क्या चीजें करनी हैं वो सीखते हैं। इसलिए On Page SEO और Off Page SEO ही हमारे लिए ज्यादा Important हैं।

Q 2. अब सवाल आता है की On Page SEO और Off Page SEO में हमारे लिए सबसे ज्यादा Important कौन सा SEO है या हमें सबसे ज्यादा किस पर ध्यान देना चाहिए ?

जवाब- अगर हम दोनों SEO के Comparison की बात करें तो हमें On Page SEO पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए क्योंकि On Page SEO के अंतर्गत हम अपनी Website को Internet (Web) के According Design करने के बारे में सीखते हैं। लेकिन Off Page SEO को भी हमें Underestimate नहीं करना चाहिए  क्योंकि Off Page SEO की Help से ही हम अपनी Website पर Traffic Increase कर सकते हैं और साथ ही अपनी Website को Search Result में Top पर ला सकते हैं।

Q 3. Blogging और Vlogging SEO में क्या Difference है ?

जवाब- जब हम Blog की बात करते हैं तो Blog के Content में बहुत सारी चीजें होती हैं जैसे Images, Text, Links, Videos, PDF Files, etc लेकिन जब हम Vlogging (YouTube Videos) की बात करते हैं तो यहाँ हमारे पास सिर्फ Video होती है साथ ही Backlinks Create करने की Strategy बिलकुल अलग होती है।

Blog में हम Content के According Work करते हैं लेकिन YouTube पर Popularity और Trend के According Work करते हैं।

Blog के अंदर हम अपनी मर्ज़ी से जितने चाहे और जहाँ चाहे Backlinks Create कर सकते हैं लेकिन YouTube पर हम अपनी Video पर Maximum 6 Backlinks को ही Create कर सकते हैं। साथ ही Blog में Create किये गए Backlink को Crawler Read कर सकता है लेकिन YouTube Video पर Create किये गए Backlink को Crawler Read नहीं कर सकता।


On Page SEO के अंतर्गत हमें किन चीजों को सीखना सा समझना होता है ?

On Page SEO के अंतर्गत हमें निम्न प्रकार की चीजों पर ध्यान देना होता है-

1. Keyword- किसी Topic पर Article Write करने से पहले हमें उस Keyword के बारे में Research करनी चाहिए-
  • Keyword की Monthly Searches कितनी है। 
  •  उस Keyword से Alternative Keywords कौन से हैं और उन पर कितनी Searches होती है। 
  • हम जिस Keyword पर Article Write करने जा रहे हैं उस Keyword पर Search Engine के पास कितने Results Available हैं। 
  • हमारे Keyword से Related कितने Article Available हैं। 
  • हम जिस Keyword पर Article Write करने जा रहे हैं उस Keyword पर हमारे साथ Competitive Article कैसे हैं और उन पर किन-किन चीजों को शामिल किया गया है। Mean उनका Content कैसा है। 
  • Keyword की CPC कितनी है। जिससे हमें यह Idea हो सके की इस Keyword की कितने महंगे Ads आ सकते हैं। 
2. Title- Title Post का Main Base होता है क्योंकि हमारा पूरा Article सिर्फ Title पर ही Focus होता है। इसलिए Title Decide करने से पहले आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए-  
  • Title Decide करने से पहले यह देखना बहुत ही जरुरी है हमारे Competitors किस Type का और अपने Title में किन Keywords का Use करते हैं। 
  • Title में Popular Words जो की सबसे ज्यादा Search किये जाते हैं उन Words को Title के Starting में रखना जैसे How to, PDF, Download, etc ये ऐसे Keywords हैं जिन्हे लोग कुछ भी Search करने से पहले Use करते हैं। 
  • अगर आप Hindi में Article Write करते हैं तो अपने Title के End में Hindi Keyword का Use जरूर करें क्योंकि जब भी कोई User Google पर Hindi में किसी Article को Find करता है तो वह अपनी Search के End में Hindi Word को Mention कर देता है। 
  • Title बिलकुल Simple होना चाहिए Readable होना चाहिए और Title में ज्यादा Symbols का Use ना करें। 
  • Title के Main Keyword को Starting में Write करके उसके बाद (-, !,) इत्यादि Symbols का Use  करने से Search Engine हमारे Keyword पर ज्यादा Focus करता है और Search Result में हमारे Article को Top पर Show करता है। 
3. Headings- Headings एक बहुत ही Important Factor है Blogging के अंदर Headings में आपको निम्न चीजों पर विशेष ध्यान देना चाहिए-
  • Article में H1, H2, H3 etc Headings का Use करना चाहिए। 
  • Headings में अपने Main Keyword को Implement करना चाहिए। 
  • सभी Heading दूसरी Heading से थोड़ा Different होनी चाहिए जिससे पार Topic के बारे में ज्यादा से ज्यादा Write कर सकें। 
4. Content- Content Write करते समय हमें On Page SEO का विशेष ध्यान रखना चाहिए-
  • First Paragraph के अंदर आपका Main Keyword Minimum 4 Times और Maximum 6-8 Times होना चाहिए इससे ज्यादा नहीं होना चाहिए। 
  • Second Paragraph में आपका Main Keyword At least 3-4 times होना चाहिए। 
  • Content के बीच में Extra Words Write करके उसपर Links बिलकुल ना लगाएं ये User के लिए Bad Effect होता है। 
  • Content के बीच में use किये गए Word जो की Sentence को complete करता हो मतलब Sentence की Meaning को ख़राब ना करता हो, आप उस Keyword या Sentence के ऊपर Links लगा सकते हैं। 
5. Images- Images का Use हमें अपने Article में जरुरत करना चाहिए क्योंकि Images User/Visitor के ध्यान को बनाए रखने और उसे Article को Read करने की Inspiration देती है साथ ही Image हमारे Content के बारे में भी enplane करती हैं। Images का Use करते समय हमें निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए-
  • Image किसी दूसरी Website से Copy Write या Download की हुई नहीं होनी चाहिए। 
  • Image Clear होनी चाहिए जिससे Image की Importance बानी रहे। 
  • Image की Size पर विशेष ध्यान देना चाहिए क्योंकि अगर Image का Size ज्यादा होगा तो Site Load होने में ज्यादा समय लेती है। 
  • Image पर Alt Tag का Use जरूर करना चाहिए। जिससे Search Crawler हमारी Image को भी Read कर सके। 
6. Videos- Videos देखना आज के समय में सभी को पसंद है साथ ही Videos को Watch करने से आप एक Limited Time में ही सब कुछ जान सकते हैं साथ ही Videos को Content में Include करने से User आपके Article पर ज्यादा देर तक रुकता है। Videos को Content में शामिल करने के लिए आपको कुछ चीजों पर ध्यान देना चाहिए-
  • Video आपके Content से Related या आपके Content को Express करने वाली होनी चाहिए। 
  • कोशिश करें की आप Video को Blog पर ही Upload करें क्योंकि Blog पर Upload की हुई Video Page की Loading Speed को ज्यादा Effect नहीं करती। 
7. Content Length- Content की Length Search Engine में बहुत ही ज्यादा Matter करती है। इसलिए आपको Content Write करते समय कुछ बातों पर विशेष ध्यान देना चाहिए-
  • Article को Length को Long करने के लिए फालतू (un-necessary) Paragraph को Write  ना करें। 
  • Article की Length Minimum 6-8 Paragraph होनी चाहिए। 
  • Article At least 500 Words से Above होना चाहिए। 
  • Paragraph के अंदर Maximum 6-7 Lines होनी चाहिए पर उससे ज्यादा नहीं क्योंकि ज्यादा लम्बा Paragraph लिखने से Reader को बोरियत होने लगती है। 
  • Use Examples, Examples का Use करने से Article Read करने में ज्यादा Interesting होता है। 
  • Content को Point Wise भी Write कर सकते हैं क्योंकि Point Wise Content को Write करने पर User/Reader के अंदर Excitement बना रहता है की आगे क्या है। 
8. Internal Links- Internal Links एक बहुत ही Important Factor है Blogging में जैसा की हम जानते हैं Do Follow Links को Search Crawler Read कर सकता है इसलिए हम अपने Blog पर Internal Links की Help से Do Follow Links को Create कर सकते हैं और साथ ही अपने Reader को अपनी Old Post के बारे में भी बता सकते हैं।  Internal Links का Use करने के लिए हमें निम्न चीजों पर ध्यान देना चाहिए-
  • Link हमारे Content / Topic से Related होना चाहिए। 
  • Clear समझ आना चाहिए की कहाँ पर Link है इसके लिए आप अपने Content को Colour Full ना करें।
  • एक Article के अंदर At least 10 Internal Links जरूर डालें। 
  • Post के End में (Related Links, Important Links, Use full Links, Must Read) इत्यादि Words को Heading बना कर आप Internal Links का Use  कर सकते हैं। 
  • Paragraph के End में Internal Links का Use करने से User को हमारे Link के बारे में ज्यादा Information मिलती है लईकिन इसकी वजह से वह हमारी उस Post को Leave भी कर सकता है। 
  • Internal Link लगते समय यह जरूर देखें की Link New Tab में Open हो रहा है या उसी Page पर। 
  • Do Follow Link और No Follow Link के ऊपर विशेष ध्यान दें। 
9. Category- जब हम किसी Topic या Keyword के ऊपर एक Article Write करते हैं तो उस Article को सही Category में Publish करना बहुत ही जरुरी होता है जिससे हमारे User/Reader को हमारा Article आसानी से मिल सके।

10. Permalink- जिस प्रकार हमारी Website / Blog का एक URL होता है उसी प्रकार हमारे Article का भी एक URL होता है जिसे हम Permalink के नाम से जानते हैं। Permalink को Set करते समय हमें कुछ बातों का विशेष ध्यान देना चाहिए-
  • हमारा Main Keyword हमारे Permalink में Mention होना चाहिए। 
  • Main Keyword को बार-बार Permalink में Repeat ना करें। 
  • Permalink की Length ज्यादा नहीं होनी चाहिए। 
  • Permalink में Alternative Keywords का Use ना करें।
11. Description- किसी भी Article के लिए Description बहुत ही जरुरी होता है क्योंकि Description के Help से हम कम शब्दों  Article के बारे में Explain कर सकते हैं। Description Write करते हमें कुछ बातों का विशेष ध्यान देना चाहिए।

  • Description Write करते समय हमें Description की Length को 140-142 words से ज्यादा नहीं रखना चाहिए। 
  • Description में Main Keyword को at least 3-4 Times Write करना चाहिए उससे ज्यादा नहीं। 
  • Alternative Words का use Description के अंदर ना करें। 
  • Print shot, Examples, Videos इत्यादि का use अगर आपने Content / Article में किया है तो आप Description में जरूर Mention करें। 
  • Title और First Paragraph को Copy करके Description Box में Paste ना करें। 
12. Robot.txt- Blogger या Wordpress पर Article Write करने के बाद इस बात का विशेष ध्यान रखें की Robot.txt Files में आपकी Post Disable ना हो क्योंकि अगर Robot.txt Files में आपका URL Desable होगा तो Search Crawler आपके Article को Read नहीं करेगा।

13. Tags- Article को Write करने के बाद जरुरी Keywords (Tags) को Write करें जिससे Different Keywords पर आपका Article Search Result में Show करे।

इनके अलावा कुछ और चीजें है जिनके बारे में हम On Page SEO के अंतर्गत जानकारी हासिल करते हैं। ऊपर हमने जिन Topics के बारे में बताया है यह सबसे ज्यादा Important हैं। आप जब भी अपने Blog पर Article Write करें तब ऊपर बताई गयी 13 Points को जरूर ध्यान दें क्योंकि अगर आप इन पर ध्यान नहीं देंगे तो आप Search Result में अपने Article को Rank नहीं करा सकेंगे।

Off Page SEO के अंतर्गत हमें किन चीजों को सीखना सा समझना होता है ?


Off Page SEO का Use Post / Article को Complete करने और Publish करने के बाद किया जाता है। Simple Language में कहें तो Off Page SEO के अंतर्गत हम अपने Blog / Website का Promotion करते हैं और साथ ही साथ हम अपने Blog के लिए Backlinks Generate करते हैं। जिससे दूसरी जगहों से लोग उन Links पर Click करके हमारे Blog पर Visit कर सकें और उन्हें हमारे Blog के बारे में Information मिल सके।

Off Page SEO के अंतर्गत हम निम्न चीजों के बारे में जानकारी हासिल करते हैं-

01. Search Engine Submission- किसी भी Article / Post को Write करने के बाद सबसे पहले हमें उस Article को Search Engine पर Submit करना होता है जिससे Search Engine को हमारे Article के बारे में Information मिल सके और वह हमारे Article को Read करके Search Results में Show कर सके। Search Engine Submission के अंतर्गत हमें निम्न बातों पर ध्यान देना चाहिए-
  • Webmaster Tools पर Sitemap Submit होना चाहिए। 
  • Article के URL को "Fetch" करना चाहिए जिससे हमारा Article को Search Crawler Index कर सके। 
  • Robot.txt Files को समय-समय पर Check करते रहना चाहिए। 
  • Crawl Error पर ध्यान देना चाहिए जिससे हमें पता चल सके की हमारा कौन सा Article Crawl होने में Problem Create कर रहा है। और उस Problem को जल्द से जल्द Solve करना चाहिए। 
02. Pinging- Pinging एक ऐसा Process है जिससे Google के सभी Search Engines (Google.co.in, Google.uk, Google,pk,) etc. सभी Search Engines को हमारे Article की Information मिल सके और हमारा Article उन Search Engines पर Submit हो सके।

Pingler.com

Pinging करने के लिए सबसे Best और Free Site है जिससे आप Per Day 6 URLs को Ping कर सकते हैं।

03. Social Media Sharing- जब आप एक New Article Write करते हैं तो जरुरी है की लोगों को आपके उस Article की Information मिले जिससे वह आपके उस Article पर visit कर सकें। क्योंकि आज के समय में सभी लोग Social Media Sites का Use करते हैं इसलिए अगर आप Social Media Sites पर अपने Blog और अपनी Post को Promote करते हैं तो ज्यादा से ज्यादा लोगों को आपके Post और Blog के बारे में Information मिलती है और वह आपके Blog पर Visit करते हैं।

इस प्रकार से आप Social Media Sites से Traffic को Increase  कर सकते हैं और साथ ही Backlinks भी Create कर सकते हैं।

Facebook
Twitter
Google Plus
Pinterest
Instagram
Whatsapp

इत्यादि आज के समय में सबसे ज्यादा Popular Social Media Sites और Apps हैं।

04. Social Book Marking Sites- Social Book Marking Websites हमें Do Follow Links Provide करती है। इस वजह से Social Book Marking Sites पर अपने Blog Post का URL जरूर Share करना चाहिए क्योंकि Search Crawler सिर्फ Do Follow Backlinks को ही Crawl कर सकता है।

Stumble Upon
Digg
Tumbler
Reddit
Netdit.net

इत्यादि सबसे Popluar Social Book Marking Websites हैं।

05. Blog Commenting- Blog Commenting की Importance बहुत ही ज्यादा होती है क्योंकि Blog Commenting के माध्यम से हम Popular Blogs / Websites पर Comment के माध्यम से अपने Blog का URL Submit कर सकते हैं जिससे उन Blogs पर Visit करने वाले Visitors को हमारे Comment के बारे में Information मिलती है और वह उस Comment के माध्यम से हमारे Blog पर Visit कर सकते हैं।

06. Blog Directory- Blog Directory Sites हमें Do Follow Backlinks Provide करती हैं और साथ ही Blog Directory से Create किया गया Backlink High PR Backlink होता है जिसकी वजह से हमारा Blog Search Result में जल्दी ऊपर आ जाता है।

07. Forum Posting- Forum Posting Link Generate करने का एक बहुत ही अच्छा Medium है क्योंकि Forums में Per Day 100+ Questions पूछे जाते हैं जिनके Reply में हम अपने Blog Post का URL दे सकते हैं। इस प्रकार Forums से हमें बहुत ही ज्यादा और Quality Backlinks मिल जाते हैं।

08. Question Answer Sites- Internet पर बहुत सारी Question Answer Sites Available हैं जिन पर 1000+ Peoples Questions पूछते हैं आप उन Sites पर पूछे गए Questions में अपने Blog Post का URL Reply Box में Submit कर सकते हैं जिससे आपको Visitors भी मिलते हैं और साथ ही Backlinks भी इसलिए Question Answer Sites का Use करके आप अपने Blog पर Traffic और Backlinks दोनों ही Improve कर सकते हैं।

09. Document Sharing Sites- Internet पर ऐसी बहुत Websites और Social Media Sites हैं जिनपर आप Photos, Videos, Pdf Files etc Share कर सकते हैं। आप इन Sites पर अपने Documents के साथ Links को भी Implement कर सकते हैं। जिससे आपको Quality Backlink मिल जाता है।

Pinterest
Facebook
Twitter

इत्यादि सबसे popular Sites हैं जिनपर आप Documents के साथ Links को भी Share कर सकते हैं।

10. Video Sharing Sites- YouTube की Popularity के बारे में हम सभी जानते हैं। आज के समय में YouTube इतना Popular है की World का Second Number का Search Engine बन चूका है। साथ ही आज के समय में लोगों को Read करने से Better Video को Watch करना अच्छा लगता है। इसलिए आप YouTube पर Videos बनाकर अपने Blog/Website का Promotion कर सकते हैं साथ ही Description Box और Comment Box में आप अपने Blog Post का URL भी Submit कर सकते हैं।